Covishield Side Effects: कोविशील्ड लेने के बाद मौत का मामला: क्या है सच्चाई? क्या करें आप?

Covishield Side Effects: यह बात है वर्ष 2019 की जब पूरी दुनिया कोरोना काल में बहुत बड़ी महामारी से जूझ रही थी हर तरफ लोगों को अपनी जान की पड़ी हुई थी लेकिन शुरुआत में इसके लिए किसी के पास कोई भी दवाई या वैक्सीन उपलब्ध नहीं थी तब सभी देशों ने मिलकर और दुनिया की सबसे फेमस यूनिवर्सिटी ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर एक वैक्सीन बनाई गई थी। जिसे कोविशील्ड के नाम से जाना गया था। उसे समय लगभग 80% लोगों को कोविशील्ड वैक्सीन दी गई थी। 

Covishield Side Effects
Covishield Side Effects

लेकिन अब एक बार फिर कोरोना की वैक्सीन सुर्खियों में बनी हुई है। उस समय वैक्सीनेशन अभियान के दौरान कोविड-19 टीकाकरण या कोविशील्ड को लेकर अनेक विवादों और सवालों का सामना किया गया था। खास तोर से, कोविशील्ड, जिसे ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका के रूप में भी जाना जाता है, एक प्रमुख वैक्सीन है जिसका उपयोग आज भी कोविड-19 के खिलाफ एक बेहतरीन वैक्सीनेशन प्रक्रिया में किया जा रहा है। भारत में इसे सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) द्वारा बनाया गया था।

लेकिन हाल ही में कुछ मामलों में कोविशील्ड लेने के बाद मौत के मामले सामने आए हैं। मौत के इन मामलों की वजह से हमारे आस पास समाज में चिंता और डर को बढ़ा रहे हैं। इसके बावजूद, सच्चाई का पता लगाना और ठीक जानकारी हासिल करना हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है।

कोविशील्ड वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स (Covishield Side Effects) के बारे में जानकारी हासिल करने से पहले, यह महत्वपूर्ण है कि हम स्पष्ट रूप से समझें कि कोविशील्ड वैक्सीन क्या है और यह कैसे काम करती है। कोविशील्ड वैक्सीन ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका (Oxford-AstraZeneca) द्वारा बनाई  गई थी। कोविशील्ड वैक्सीन को बनाने के लिए अनेक Scientists/विशेषज्ञों की टीमों ने दुनिया भर में प्रयास किए हैं, और इसे खास रूप से ज्यादातर लोगों को सुरक्षित रखने के लिए अनुमति दी गई है।

इसके बावजूद, कुछ लोगो ने कोविशील्ड वैक्सीन लेने के बाद साइड इफेक्ट्स का सामना किया है। इनमें से कुछ मामले गंभीर हो सकते हैं, जैसे कि भयंकर एलर्जिक प्रतिक्रियाएँ या अन्य मेडिकल Conditions/कंडीशंस।

Main covishield side effects – कुछ मुख्य कोविशील्ड साइड इफेक्ट्स हैं:

  1. जहां टीका लगाया गया वहां दर्द या सूजन का होना।
  2. बुखार या ठंडी का लगना।
  3. कमज़ोरी और थकान।
  4. मांसपेशियों में दर्द या अकड़न 
  5. सिरदर्द।

यदि आप भी इन साइड इफेक्ट्स  – Covishield Side Effects का सामना कर रहे हैं या किसी भी और गंभीर स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहे हैं, तो आपको तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इसके अलावा, कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर कोई भी संदेह या डर होने पर अपने नजदीकी स्वास्थ्य अधिकारी या डॉक्टर/चिकित्सक से सलाह लेना बहुत ही जरूरी है। यह भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि आप वैक्सीनेशन के लिए योग्य हैं और कोई भी पूर्वनिर्धारित चिकित्सा रुझान नहीं है।

इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि क्या वाकई कोविशील्ड के कोई साइड इफेक्ट हैं या नहीं। किन लोगों के लिए कोविशील्ड ज़्यादा ख़तरनाक है। कोविड-19 महामारी के समय में वैक्सीनेशन का महत्वपूर्ण योगदान था, लेकिन हाल ही में कुछ मामलों में कोविशील्ड वैक्सीन लेने के बाद मौत की रिपोर्ट्स सामने आई हैं। इस लेख में, हम इस विवाद को गहराई से समझने और सच्चाई को स्पष्ट करने का प्रयास करेंगे।

Covishield Side Effects – कोविशील्ड लेने के बाद मौत का मामला?

क्या है सच्चाई?

ब्रिटेन में एक व्यक्ति अचानक बीमार पड़ गया, फिर उस व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया। तब पता चला कि उस व्यक्ति को दिल/Heart Attack, TTS (Thrombosis with Thrombocytopenia Syndrome) और खून के थक्के(Blood Clotting) जैसी गंभीर समस्या थी।

इसके बाद पता चला कि इसका मुख्य कारण कोई और नहीं बल्कि Covishield/कोविशील्ड है क्योंकि जिस समय कोविशील्ड को लोगो को लगाया जा रहा था उस समय भी कंपनी ने इस बात के संकेत दिए थे कि कोविशील्ड के कुछ साइड इफेक्ट हो सकते हैं लेकिन कंपनी ने कभी इस की बात नहीं की कि ये साइड इफेक्ट्स/लक्षण इतने गंभीर हो सकते है।  हाल ही में एस्ट्राजेनेका कंपनी कोर्ट के सामने आई कि उनके द्वारा निर्मित कोविशील्ड वैक्सीन सही में गंभीर समस्या पैदा कर सकती है।

एस्ट्राजेनेका कंपनी के खिलाफ भारत में करीब 52 मामले दर्ज किए गए हैं। कोविशील्ड से हुई मौतों के कारण लोगों ने करोड़ों रुपए का मुआवजा लेने की बात भी कही है, हालांकि कंपनी ने अपना पक्ष रखते हुए बयान दिया है कि कोविशील्ड के कारण हार्ट अटैक, टीटीएस और ब्लड क्लॉटिंग जैसी समस्याएं हो सकती हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि यह सभी लोगों को होगा, इसलिए कोविशील्ड वैक्सीन के साइड इफेक्ट घातक हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि यह उन सभी लोगों के लिए घातक है जिन्होंने कोविशील्ड वैक्सीन लगवाई है।

Covishield Side Effects – कंपनी ने बयान में क्या कहा है?

कंपनी ने अपने बयान में यह भी कहा है कि कोविशील्ड वैक्सीन लगाने से करोड़ों लोगों की जान भी बची है और हमने जो वैक्सीन का निर्माण किया था वो लोगों की जान बचाने के लिए किया था, इसलिए अगर कोविशील्ड वैक्सीन से इस तरह के साइड इफेक्ट दिख रहे हैं तो इसके लिए हम जिम्मेदार नहीं हैं।

फिलहाल कंपनी के खिलाफ कई मामले दर्ज किए गए हैं और इस मामले का नतीजा कुछ ही दिनों में आने वाला है। हमारे देश के हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट इस मामले में क्या फैसला लेते हैं? जैसे ही इसका फैसला आएगा, हम आपको जरूर बताएंगे।

क्या कोविशील्ड वैक्सीन सुरक्षित है?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और (MoHFW) भारत सरकार दोनों ने कोविशील्ड वैक्सीन को सुरक्षित और प्रभावी घोषित किया है। अधिकांश मामलों में, वैक्सीन के बाद होने वाले दुष्प्रभाव हल्के होते हैं और कुछ दिनों में दूर हो जाते हैं। कुछ दुष्प्रभाव बहुत ही गंभीर होते है। और वैज्ञानिकों द्वारा उनका अध्ययन किया जा रहा है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि कोविशील्ड के लाभ जोखिमों से कहीं अधिक हैं। इसने लाखों लोगों को गंभीर बीमारी, अस्पताल में भर्ती होने और मृत्यु से बचाया है।

कोविशील्ड वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स के बारे में सबसे अधिक चिंता वाला सवाल यह है की, क्या यह वाक़ेय मौत का कारण बना सकता है? अब तक, इस संदेह का कोई सही सबूत नहीं मिला है। साइंटिस्ट्स और वैक्सीन निर्माताओं का मानना है कि वैक्सीन के लेने के बाद मौत के किसी भी मामले का सीधा संबंध नहीं है। बल्कि, कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन का अहम योगदान है।

एक और महत्वपूर्ण बिंदु यह है कि वैक्सीनेशन के बाद भी बचाव का स्तर निश्चित रूप से ज्यादा नहीं है, और इसलिए समुदाय के सभी लोगो को सुरक्षित रहने के लिए सावधानी बरतनी चाहिए। मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना और अन्य सुरक्षा के उपायों का पालन करना बहुत ही महत्वपूर्ण है।

आपके अगले कदम क्या होना चाहिए? 

Covishield Side Effects: यदि आपने कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए निर्णय लिया है, तो आपको वैक्सीनेशन के बाद संभावित साइड इफेक्ट्स के बारे में सचेत और तैयार रहना चाहिए। यदि आपको कोई गंभीर साइड इफेक्ट का सामना करना पड़ता है, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह करें। इसके अलावा, वैक्सीनेशन के बाद भी सावधानी बरतना और सुरक्षा के उपायों का पालन करना जरूरी है।

  • कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने से पहले, अपने डॉक्टर से बात करें और अपनी स्वास्थ्य स्थिति के बारे में उन्हें बताएं।
  • वैक्सीन लगवाने के बाद, कुछ घंटों तक टीकाकरण केंद्र पर ही रहें और किसी भी प्रतिक्रिया के लिए डॉक्टर की निगरानी में रहें।
  • यदि आपको कोई गंभीर Side Effects/लक्षण दिखाई देते है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  • हल्के साइड इफेक्ट्स के लिए, आप ओवर-द-counter दवाएं ले सकते हैं। 
  • आराम करें, तरल पदार्थों का सेवन करें और स्वस्थ भोजन खाएं।

इसके साथ साथ सामाजिक जागरूकता, सही जानकारी, और सावधानी से कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में हम सभी का योगदान महत्वपूर्ण है। इस संकट को मिटाने में, हमें सभी को मिलकर काम करना होगा।

FAQ:

Ques: भारत में कितने लोगों को कोविशील्ड वैक्सीन दी गई?

  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW) के अनुसार, 31 जनवरी, 2024 तक, भारत में कोविशील्ड के 183.7 करोड़ खुराक दिए गए थे।
  • इसी अवधि में, AEFI (एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्यूनाइजेशन) के 88,601 मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें से 1,713 गंभीर थे।
  • इनमें से, केवल 48 मौतें हुईं, जिन्हें कोविशील्ड से सीधे तौर पर नहीं जोड़ा जा सका।

Ques: Covishield Vaccine Company Name

Ans: Serum Institute of India (SII) सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII)

Read Also:   

Leave a Comment