12वीं में फेल से एम्स तक - डॉ. आमिर की प्रेरणादायक यात्रा

डॉ. आमिर का सपना था एम्स में डॉक्टर बनना। मगर, 12वीं की परीक्षा में असफलता ने उन्हें हिला दिया।

अपनी लगन और मेहनत से डॉ. आमिर ने आखिरकार एम्स में दाखिला ले ही लिया। आज वह वहां एक सफल न्यूरोसर्जन हैं।

अपनी लगन और मेहनत से डॉ. आमिर ने आखिरकार एम्स में दाखिला ले ही लिया। आज वह वहां एक सफल न्यूरोसर्जन हैं।

उन्होंने हार नहीं मानी। उन्होंने मेहनत की और फिर से परीक्षा दी। साथ ही, उन्होंने NEET की तैयारी कर रहे छात्रों को प्रेरित करने के लिए यूट्यूब चैनल शुरू किया।

अपने अनुभवों को साझा करने और NEET उम्मीदवारों को प्रेरित करने के लिए डॉ. आमिर ने अपना YouTube चैनल बनाया।

डॉ. आमिर की कहानी हमें सिखाती है कि असफलताएं हमें रोक नहीं सकतीं। कड़ी मेहनत और सकारात्मक सोच से कुछ भी हासिल किया जा सकता है।

Dr. Amir AIIMS Neurosurgeon के बारे में जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें