IAS Waseem Ahmed Bhat: जम्मू-कश्मीर के होनहार IAS अधिकारी, UPSC सफलता की कहानी!

ias waseem ahmed bhat
Waseem Ahmad Bhat. (Photo source: Twitter/ Hilal Ahmad Shah)

ias waseem ahmed bhat: जैसा कि हम सब जानते हैं कि UPSC की परीक्षा को दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में एक माना जाता है। हर साल लाखों युवा इस परीक्षा को देते हैं लेकिन उसमें से कुछ चुनिंदा लोग ही इसमें सफल हो पाते हैं। इस परीक्षा को पास करने के लिए कड़ी लगन, मेहनत और सही रणनीति की आवश्यकता होती है। आज हम आपको ऐसे ही एक शख्स की कहानी बताने जा रहे हैं, जिन्होंने बहुत कठिन परिस्थितियों को पार कर न केवल UPSC परीक्षा पास की बल्कि शानदार AIR 7 रैंक हासिल की।

जी हां दोस्तों हम बात कर रहे हैं जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के रहने वाले Waseem Ahmed Bhat की। जैसा कि हम सब जानते हैं कि जम्मू कश्मीर एक ऐसा इलाका है जिसमें हर वक्त आतंकवादका डरावना माहौल बना रहता है। वसीम का बचपन आतंकवाद से प्रभावित माहौल में बीता। जहाँ हर तरफ अशांति का साया था, वहीं वसीम अपने लक्ष्य को पाने के लिए लगातार कड़ी मेहनत कर रहे थे।

इस लेख में हम आपको जम्मू-कश्मीर के एक ऐसे युवा, वसीम अहमद भट्ट की कहानी बताएंगे, जिन्होंने कठिन परिस्थितियों में भी इस परीक्षा को पास कर पूरे देश को गौरवान्वित किया है।

Ias Waseem Ahmed Bhat Biography, Qualification, Rank, Age

ias waseem ahmed bhat

Waseem Ahmad Bhat Biography

वसीम अहमद भट का जन्म Bragam Dooru Shahabad, के  अनंतनाग, जम्मू और कश्मीर, भारत में हुआ था। वसीम अहमद को बचपन से ही पढ़ाई का शौक था और आखिरकार सिविल सेवा परीक्षा में शामिल हुए और अपने देश की सेवा करने के लिए सबसे कठिन परीक्षा को पास करने में सफल रहे।

Waseem Ahmad Bhat UPSC 2022 AIR 7 Biography
Exam Union Public Service Commission Exam
All India Rank 7th
Attempt 3rd
Passing Year 2022
Place of Birth Anantnag, Jammu and Kashmir, India
Age 24

वसीम अहमद पिछले दो सालो से UPSC परीक्षा के लिए बहुत मेहनत से पढ़ाई कर रहे थे और सफलता हासिल करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। 

IAS Waseem Ahmed Bhat Early Life and Struggles – प्रारंभिक जीवन और संघर्ष

IAS Waseem Ahmed Bhat का जन्म जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के एक छोटे से गांव बारगाम में हुआ था। उनका बचपन आतंकवाद से प्रभावित माहौल में बीता, जिसने निश्चित रूप से उनके जीवन को प्रभावित किया।  शिक्षा प्राप्त करना उनके लिए आसान नहीं था। लेकिन, उन्होंने हार नहीं मानी और लगातार पढ़ाई जारी रखी। और, इन कठिनाइयों के बावजूद वसीम ने शिक्षा को ही अपनी ताकत बना लिया।

Waseem Ahmed के पिता जम्मू-कश्मीर राज्य के कृषि विभाग में पोस्टेड हैं, जबकि माता गृहणी हैं। इन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई DURU के Iqbal Memorial Institute से प्राप्त की। Waseem Ahmed ने श्रीनगर के National Institute of Technology (NIT) से Civil Engineer में BTech की डिग्री हासिल की थी। बचपन से ही उनका सपना था कि वे देश की सेवा करें। इसके बाद से ही उन्होंने UPSC परीक्षा को लक्ष्य बनाकर तैयारी शुरू कर दी थी।

Waseem Ahmed Bhat Preparation Strategy & Success – सफलता का सूत्र, रणनीति 

Waseem Ahmed Bhat ने जैसे ही ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद से ही उन्होंने UPSC परीक्षा को लक्ष्य बनाकर तैयारी शुरू कर दी थी। उनकी सफलता का श्रेय उनकी कड़ी मेहनत, सही रणनीति और अच्छी समझ-बुझ को जाता है।

सबसे पहले वसीम ने अपनी कमजोरियों को पहचाना और उन्हें दूर करने पर ध्यान दिया। उन्होंने अपने टाइम के मुताबिक एक सही टाइम टेबल बनाया और उसका सख्ती से पालन किया। उन्होंने प्रीलिम्स और मेन्स दोनों परीक्षाओं के लिए जरूरी स्टडी मटेरियल का चयन किया और रोजाना करेंट अफेयर्स का अध्ययन किया। इसके साथ-साथ मॉक टेस्ट देना उनकी रणनीति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा था।

UPSC परीक्षा को पास करना कोई आसान काम नहीं है। वसीम ने भी इस परीक्षा को क्रैक करने के लिए कड़ी मेहनत की। उन्होंने दिल्ली में रहकर कोचिंग ली और लगातार अध्ययन किया। हालांकि, उनका पहला प्रयास सफल नहीं रहा। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और दोबारा परीक्षा दी। आखिरकार, साल 2022 में उन्होंने UPSC परीक्षा में शानदार 7वीं रैंक हासिल कर ली।

वसीम का मानना है कि सफलता के लिए कड़ी मेहनत, सही रणनीति और सकारात्मक दृष्टिकोण होना बहुत जरूरी है। उन्होंने तैयारी के दौरान मॉक टेस्ट देने, नियमित रूप से रिवीजन करने और करंट अफेयर्स पर विशेष ध्यान देने पर ध्यान दिया। साथ ही उन्होंने सलाह दी कि अभ्यर्थी परीक्षा के दबाव में न आएं और शांत होकर परीक्षा दें।

Waseem Ahmed Bhat Inspiration For Society: समाज के लिए प्रेरणा 

वसीम अहमद भट्ट की कहानी न सिर्फ उन युवाओं के लिए है जो UPSC की तैयारी कर रहे  बल्कि पूरे देश के लिए प्रेरणा है, जो कठिन परिस्थितियों में भी अपने सपनों को पूरा करने का जज्बा रखते हैं। यह हमें सिखाता है कि अगर आप कड़ी मेहनत, लगन और सही रणनीति से कोई भी लक्ष्य हासिल करना चाहते  है तो आप अपने लक्ष्य को जरूर प्राप्त कर सकते हैं। आतंक से प्रभावित इलाके से निकलकर देश की सेवा के लिए आगे आना उनकी महान इच्छाशक्ति को दिखता है।

Read Also: IAS Divya Tanwar : हरियाणा की एक ऐसी बेटी, जो 22 साल की उम्र में IPS, 23 साल की उम्र में बन गई IAS

Read Also: Dr. Amir AIIMS: AIIMS के Neurosurgeon, जिन्होंने जुनून को बनाया कामयाबी का रास्ता!

Leave a Comment